नमस्कार आपका स्वागत है

नमस्कार  आपका स्वागत है
नमस्कार आपका स्वागत है

Sunday, August 20, 2017

निर्भय निर्गुण ....कबीर !













Nirbhaiy Nirgun

Nirbhay Nirgun Gun Re Gaunga

Mool Kamal Dradh Aasan Bandhu-ji
Ulti Pavan Chadaunga


Man Mamta Ko Thir Kar Laun-ji
Pancho Tat Milaunga


Ingala Pingala Sukhman Nadi-ji
Tirveni Pe Haun Nahaunga

Panch Pachhison Pakad Mangaun-ji
Ek Hi Dor Lagaunga


Shunya Shikhar Par Anhad Baje-ji
Raag Chattis Sunaunga


Kahat Kabir Suno Bhai Sadho-ji
Jeet Nishan Ghuraunga



Translation


Fearless, formless, that’s the form I’ll sing 

I’ll bind the root lotus,
Make the breath flow upward.

I’ll make the mind and feelings still
The five elements one.

Right, left, middle channels
I’ll bathe where three streams meet.

I’ll catch the five and twenty five,
String them on one thread.

On the peak of emptiness where the unstruck sound resounds, 
I’ll sing thirty-six ragas.

Kabir says, listen, truth-seekers,
I’ll seize the sign of victory.

Translated by Linda Hess







Thursday, March 30, 2017

वाद्य संगीत




संगीत की शिक्षा बचपन से दी जाये तो संगीत मन में रच बस जाता है  !! पूरी लगन से रियाज़ करते हुए एकाग्रता सतत बढ़ती  है !! एक सफल व्यक्तित्व की और बढ़ते हैं कदम .... !!

आइये सुनिये सम्राट संचेती द्वारा सिंथेसाइज़र पर  पुकारता चला हूँ मैं ..... !!






Thursday, September 22, 2016

हेली म्हारी






अद्भुत हैं आज के गीत ....!!





भीड़  से पुनः एकांत की ओर ...
नाद से ज्यूँ  अनहद  की ओर ...

Friday, August 26, 2016

राग यमन !!





ढलती हुई साँझ की कोमलता
स्वरों की उड़ान
पंखों में भरा सारा  विहान
ठहरे हुए पल ..
पल छिन ,
स्वरों की साध लिए ..
आ ही पहुंचे मुझ तक......






Wednesday, February 10, 2016

kichhu din



प्रभु नमन ,
आराध्या का समर्पण ,
गुंजित करता मन ....!!




सुनिए ये बाउल गीत ....